तुझे मैं ले के चलूँ [संगीतकार के स्वर में - 6]

हिन्दी फिल्म संगीत की बात हो और किशोर कुमार का नाम न आये ऐसा नहीं हो सकता है। उनकी ख्याति एक ऐसे सदाबहार गायक के रूप में है जिसने हर मूड के अनुसार गाया है। आज प्रस्तुत है "दूर गगन की छांव में" उनका एक गीत उन्हीं के संगीत निर्देशन में:


आ चल के तुझे...

==================
सम्बंधित कड़ियाँ:
==================

1. रूठ के हमसे कहीं - जतिन पंडित
2. पास रहकर भी कोई - जतिन पंडित
3. किस्मत के खेल निराले - रवि
4. हारे भी तो बाज़ी हाथ नहीं
5. प्यार चाहिए - बप्पी लाहिड़ी

5 comments:

  1. Archana Says:

    कोई जबाब नही इस गीत का...आभार..

  2. STRANGER Says:

    Jai Shri Krishna,

    May I request you to kindly visit my blog in your spare time please.

  3. वीना Says:

    बहुत ही प्यारा गीत....

  4. अहसास की परतें - समीक्षा Says:

    Nice song, We all are fans of Kishor da.


    Kindly visit http://ahsaskiparten-sameexa.blogspot.com/

  5. GirishMukul Says:

    Sir
    ni:shabd ho gayaa hoon
    sadar abhivadan