कुन्दन लाल सहगल - ऐ दिल ए बेक़रार झूम - शाहजहाँ (1946)


खुमार बाराबंकवी के शब्द नौशाद का संगीत

Posted in Labels: , , , |

6 comments:

  1. Vivek Jain Says:

    बढ़िया!

    विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

  2. ज्योति सिंह Says:

    anmol khazana hai ye ,sundar .

  3. Dr Varsha Singh Says:

    लाजवाब गीत है यह....

  4. अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) Says:

    सहगल जी का बेहतरीन गीत.श्रीलंका ब्राड कास्टिंग कारपोरेशन(.रेडिओ सीलोन) पुरानी फिल्मो का संगीत कार्यक्रम में बरसों से ७.५७ सुबह कुंदन लाल सहगल जी का गीत ही बजता है.इसी समय वे दुनिया से रुखसत हुए थे.

  5. Richa Says:

    old is gold..

  6. vidhya Says:

    आप का बलाँग मूझे पढ कर अच्छा लगा , मैं भी एक बलाँग खोली हू
    लिकं हैhttp://sarapyar.blogspot.com/

    आपको मेरी हार्दिक शुभकामनायें.

    अगर आपको love everbody का यह प्रयास पसंद आया हो, तो कृपया फॉलोअर बन कर हमारा उत्साह अवश्य बढ़ाएँ।